300*250 ads

Breaking News

International Yoga Day Live: पीएम मोदी बोले- हर परिस्थिति में समान और अडिग रहने का नाम ही योग है

नई दिल्ली। दुनिया भर में फैली कोरोना वायरस महामारी ( Coronavirus Pandemic ) के बीच रविवार को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस ( international Yoga day live ) मनाया जा रहा है। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ योग बनाए निरोग का संदेश देने के लिए इसका सोशल मीडिया पर जमकर प्रचार किया जा रहा है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi ) ने अपने संबोधन में कहा कि योग दिवस ( world yoga day 21 june ) लोगों की एकजुटता का दिन है।

पीएम मोदी ( pm modi ) का भाषण लाइवः

एक सजग नागरिक के रूप में हम परिवार और समाज के रूप में एकजुट होकर आगे बढ़ेंगे। हम प्रयास करेंगे कि Yoga at home and Yoga with family को अपने जीवन का हिस्सा बनाएं। हम ज़रूर सफल होंगे, हम ज़रूर विजयी होंगे: पीएम मोदी
हमारे यहा कहा गया है- युक्त आहार विहारस्य, युक्त चेष्टस्य कर्मसु। युक्त स्वप्ना-व-बोधस्य, योगो भवति दु:खहा।। अर्थात्, सही खान-पान, सही ढंग से खेल-कूद, सोने-जागने की सही आदतें, और अपने काम, अपनी duties को सही ढंग से करना ही योग है।
गीता में भगवान कृष्ण ने योग की व्याख्या करते हुए कहा है- ‘योगः कर्मसु कौशलम्’ अर्थात्, कर्म की कुशलता ही योग है। Efficiency in Action is Yoga।
युक्त आहार विहारस्य, युक्त चेष्टस्य कर्मसु। युक्त स्वप्ना-व-बोधस्य, योगो भवति दु:खहा।। अर्थात्, सही खान-पान, सही ढंग से खेल-कूद, सोने-जागने की सही आदतें, और अपने काम, अपनी duties को सही ढंग से करना ही योग है।

  • योग का अर्थ ही है- ‘समत्वम् योग उच्यते’ अर्थात, अनुकूलता-प्रतिकूलता, सफलता-विफलता, सुख-संकट, हर परिस्थिति में समान रहने, अडिग रहने का नाम ही योग है।
  • स्वामी विवेकानंद कहते थे- “एक आदर्श व्यक्ति वो है जो नितांत निर्जन में भी क्रियाशील रहता है, और अत्यधिक गतिशीलता में भी सम्पूर्ण शांति का अनुभव करता है”। किसी भी व्यक्ति के लिए ये एक बहुत बड़ी क्षमता होती है।
  • आप प्राणायाम को अपने daily अभ्यास में जरूर शामिल करिए, और अनुलोम-विलोम के साथ ही दूसरी प्राणायाम techniques को भी सीखिए।
  • Covid19 वायरस खासतौर पर हमारे श्वसन तंत्र, यानि कि respiratory system पर attack करता है।
    हमारे Respiratory system को strong करने में जिससे सबसे ज्यादा मदद मिलती है वो है प्राणायाम, यानि कि breathing exercise।
  • बच्चे, बड़े, युवा, परिवार के बुजुर्ग, सभी जब एक साथ योग के माध्यम से जुडते हैं, तो पूरे घर में एक ऊर्जा का संचार होता है। इसलिए, इस बार का योग दिवस, भावनात्मक योग का भी दिन है, हमारी Family Bonding को भी बढ़ाने का दिन है।
  • जो हमें जोड़े, साथ लाये वही तो योग है। जो दूरियों को खत्म करे, वही तो योग है। कोरोना के इस संकट के दौरान दुनिया भर के लोगों का My Life - My Yoga वीडियो ब्लॉगिंग कंपटीशन में हिस्सा लेना, दिखाता है कि योग के प्रति उत्साह कितना बढ़ रहा है।
  • छठे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की आप सभी को बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएं। अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का ये दिन एकजुटता का दिन है। ये विश्व बंधुत्व के संदेश का दिन है।

21 जून 2015 को दुनियाभर में पहली बार आयोजित योग दिवस हर वर्ष दुनिया भर के तमाम देशों में मनाया जा रहा है। हालांकि यह पहला मौका है जब इसे डिजिटल ढंग से आयोजित ( International Yoga Day ) किया जा रहा है। इस वर्ष योग दिवस की थीम 'घर पर योग और परिवार के साथ योग' है।

महत्वपूर्ण जानकारी

  • विदेशों में स्थित भारतीय दूतावास योग संस्थानों और डिजिटल मीडिया के जरिये इसके प्रचार में जुटे हैं।
  • लेह में भव्य योग दिवस कार्यक्रम करने की आयुष मंत्रालय की योजना कोरोना महामारी के कारण रद्द की जा चुकी है।
    11 दिसंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में इसकी घोषणा की गई थी।
  • आयुष मंत्रालय ने गुरुवार को कहा था कि अंतरराष्ट्रीय योग दिवस 21 जून को इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मंचों पर मनाया जाएगा।
  • मंत्रालय के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से जारी एक संदेश योग दिवस का मुख्य अंश रहेगा।
  • मंत्रालय ने कहा था कि कोरोना वायरस के मद्देनजर मौजूदा वैश्विक स्वास्थ्य आपात स्थिति के चलते इस साल समारोहों पर ध्यान कम है।
  • इस पर ज्यादा ध्यान है कि लोग अपने पूरे परिवार के साथ घरों में योग करें।
  • पीएम मोदी ( PM Modi Address to Nation ) ने भी लोगों से योग दिवस अपने घरों में ही मनाने का अनुरोध किया है।


from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
Read The Rest:patrika...

No comments