300*250 ads

Breaking News

चालबाज China ने चली नई चाल, बंदरगाहों पर अब आग उगल रहा है Dragon, भारतीय निर्यातकों का माल रोका

नई दिल्ली। भारत-चीन ( India-China Face Off ) के बीच लगातार तनाब बढ़ता जा रहा है। कई दौर की बातचीत के बाद भी दोनों देशों के बीच को हल नहीं निकला। वहीं, ड्रैगन ( Dragon ) ने अब भारतीय निर्यातकों ( Indian Exporters ) को परेशान करना शुरू कर दिया है। चीन के तमाम बंदरगाहों ( Harbour ) पर उनके सामने तरह-तरह के रोड़े अटकाए जा रहे हैं। भारतीय माल को कई दिनों तक रोका जा रहा है। परेशान निर्यातकों ने केंद्र से इसकी शिकायत भी की है। वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय को हाल ही में भेजे नोट में फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट ऑर्गनाइजेशन ( Federation of Indian Export Organisation ) ने कहा है कि हांगकांग और चीनी में सीमा शुल्क विभाग पिछले कई दिनों से भारत से निर्यात किए माल को बंदरगाहों पर रोके हुए हुए।

हांगकांग में ऑर्गेनिक कैमिकलों की बड़ी खेप

एफआइइओ ( FIEO ) के अनुसार कई निर्यातकों ने चीन में ऐसी अड़चनों की सूचना दी है। एक निर्यातक ने बताया कि हांगकांग में कई दिनों से उनके ऑर्गेनिक केमिकलों की बड़ी खेप रोकी गई है। उन्हें बताया गया है कि भारत में चीन से पहुंच रही माल की भौतिक जांच की जा रही है। इसके जवाब में ही चीन में भारतीय निर्यातकों के साथ ऐसा सुलूक किया जा रहा है। एफआइइओ ने मंत्रालय से अनुरोध किया है कि वह केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआइसी) के साथ भारतीय बंदरगाहों पर देरी का मामला उठाए।

पैंगॉन्ग में हेलीपैड बना रहा चीन

इधर, चीन एलएसी पर सैनिकों की बढ़ोतरी के साथ ही अब पैंगॉन्ग त्सो झील के फिंगर 4 के पास हेलीपैड बना रहा है। फिंगर आठ पर स्थाई बेस है और वह 8 किमी पश्चिम में फिंगर 4 के दोनों किनारों पर शेल्टर, बंकर जैसे बुनियादी ढांचे बना रहा है।

भारत ने लद्दाख में तैनात की वायुरक्षा प्रणाली

लेह और लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर सैन्य तनातनी के बीच भारत ने चीन के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया है। एलएसी पर चीनी लड़ाकू विमान और हेलीकॉप्टरों की बढ़ती गतिविधियों को देखते हुए भारत ने इलाके में वायुरक्षा प्रणालियों को तैनात कर दिया है। पिछले एक सप्ताह में चीनी सेना पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) के युद्धक विमानों को एलएसी के महज 10 किमी दूर उड़ते देखा गया है।

लद्दाख में दो जवान शहीद

यहां आपको बता दें कि पूर्वी लद्दाख में सेना के दो जवान श्योक नदी में गिरने से शहीद हो गए। नासिक के नायक सचिन मोरे श्योक नदी में गिरे अपने दो साथियों को बचा रहे थे, इसी दौरान वह खुद नदी की चपेट में आ गए और शहीद हो गए। वहीं, पंजाब के लांसनायक सलीम खान नदी में रस्से डाल रहे थे कि अचानक उनकी नाव पलट गई। बताया जा रहा है कि सलीम की डूबकर मौत हो गई।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
Read The Rest:patrika...

No comments