300*250 ads

Breaking News

Coronavirus की दवा कंपनी रेमडेसिवीर से तय किए दाम, पांच दिन के कोर्स के लिए देने होंगे 1.75 लाख रुपये

न्यूयॉर्क। कोरोना वायरस की दवा को लेकर कंपनियां तगड़ा मुनाफा कमाना चाहती हैं। गिलीड साइंसेज (Gilead Sciences Inc) को ही ले लीजिए जिसने अभी से अपने दाम तय कर दिए है। कंपनी का कहना है कि वो अमरीकी सरकार और अन्य विकसित देशों से कोरोना वायरस ड्रग रेमडेसिवीर की एक शीशी के लिए 390 डॉलर (Cost of Remdesivir per Vial) का दाम वसूल करेगी।

इस हिसाब से इलाज के 5 दिन के कोर्स की कीमत 2,340 डॉलर (करीब 1,75,500 रुपये) होगी। गिलीड ने इस बारे में सोमवार को एक बयान में कहा कि वो विकसित देशों के लिए वन प्राइस मॉडल को तैयार करना चाहता है। इस तरह से वह मोलभाव से बचेगा।

गिलीड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डेनियल ओ'डे (Daniel O'Day) ने एक साक्षात्कार में कहा, वह चाहते हैं कि मरीजों तक इस दवा के पहुंचने में कोई बाधा न आए। इस दाम से तय हो सकेगा कि दुनियाभर में सभी देशों के मरीजों तक दवा पहुंच सके'।

390 डॉलर प्रति शीशी का दाम सभी सरकारी ईकाइयों के लिए होगा। उन्होंने कि एक बार सप्लाई का दबाव कम होगा तब इस दवा की बिक्री सामान्य डिस्ट्रीब्युशन चैनल के जरिए की जाएगी। अन्य प्राइवेट इंश्योरेंस कंपनियों व निजी कंपनियों के लिए यह भाव 520 डॉलर प्रति शीशी यानी 5 दिन का कोर्स 3,120 डॉलर होगा।

तेज रिकवरी करने में मदद करता है रेमडेसिवीर

गौतरलब है कि कि कोरोना वायरस के इलाज के लिए रेमडेसिवीर का इस्तेमाल शुरू हो गया है। अमरीका इसका उपयोग गंभीर रूप से संक्रमित मरीजों पर कर रहा है। बड़े स्तर पर ट्रायल के बाद नतीजों से पता चला कि रेमडेसिवीर के इस्तेमाल से मरीज संक्रमण गिरफ्त से बड़ी तेजी से बाहर आ रहे हैं। इन्हीं नतीजों के आधार पर अमरीकी ड्रग रेग्युलेटर (US Drug Regulator) ने रेमडेसिवीर के इस्तेमाल के लिए मई में ही मंजूरी दे दी थी। तभी दवा डिमांड काफी तेजी से बढ़ रही है। इसके अलावा भी कई दवाएं ट्रायल पर चल रही हैं। मगर रेमडेसिवीर का असर पहले ही दिखने लगा है। अब तक दुनियाभर में 1 करोड़ से भी अधिक लोग कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं और करीब 5 लाख लोगों की मौत हो चुकी है।

रेमडेसिवीर को फ्री में डोनेट करेगी

गिलीड का कहना है कि जून के महीने में वो रेमडेसिवीर को फ्री में डोनेट करेगी। इसके बाद कंपनी दवा का क्या दाम तय करेगी इस सवाल उठा रहा। गिलीड साइंसेज द्वारा इस दवा के दामों को लेकर सभी की नजर है। क्योंकि भविष्य में लॉन्च होने वाली कोविड-19 की अन्य दवाईयों के दाम भी इसी आधार पर तय किये जाएंगे।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
Read The Rest:patrika...

No comments