300*250 ads

Breaking News

15 जुलाई तक इंटरनेशनल फ्लाइट्स नहीं भरेंगी उड़ान, जारी हुआ नया सर्कुलर

नई दिल्ली। कोरोना महामारी (Coronavirus Pandemic) के चलते देश में लगाए गए लॉकडाउन के चलते लगभग सारी चीजों को बंद कर दिया गया था। इनमें इंटरनेशनल फ्लाइट्स (International Flights) भी शामिल थी। मगर अनलॉक 1.0 के तहत दी गई छूट में घरेलू उड़ानों को दोबारा शुरू करने की अनुमति दी गई। जबकि वंदे भारत मिशन के जरिए विदेशों में फंसे भारतीयों को लाने के लिए चुनिंदा अंतरराष्ट्री उड़ानों को मंजूरी मिली थी। उम्मीद किया जा रहा था कि सरकार जल्द ही इस सुविधा को पूरी तरह से बहाल करेगी, लेकिन कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति को देखते हुए इंटरनेशल फ्लाइट्स पर 15 जुलाई तक रोक (Ban Continue) जारी रखने का फैसला लिया गया है। सरकार ने इसे लेकर सभी एयरलाइंस कंपनियों को सर्कुलर जारी किया है।

विमानन कंपनियों को जारी सर्कुलर में कहा गया है कि ये रोक कॉमर्शियल पैसेंजर सर्विस पर रहेगी। भारत में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति को देखते हुए ये निर्णय लिया गया है। यात्रियों की सुरक्षाा पहली प्राथमिकता है। चूंकि संक्रमण तेजी से फैल रहा है इसलिए रिस्क लेना ठीक नहीं है। मालूम हो कि भारतीय सरकार ने इससे पहले 23 मार्च को अंतरराष्‍ट्रीय उड़ानों पर रोक लगाई थी। अब इसे बढ़ाकर 15 जुलाई तक कर दिया है।

विशेष विमानों को मिली छूट
नए सर्कुलर में अंतरराष्‍ट्रीय कार्गो ऑपरेशन और डीजीसीए (DGCA) की ओर से मंजूर विशेष उड़ानों को इस रोक से अलग रखा गया है। चूंकि इन्हें स्पेशल मिशन के तहत चलाया जा रहा है। इसलिए इन्हें छूट मिलेगी। इसके अलावा विशेष मामलों में चयनित रूट पर कुछ सेवाओं पर भी ये रोक लागू नहीं होगी। इसमें वंदे भारत मिशन के तहत संचालित इंटरनेशनल उड़ानें शामिल हैं।

5 लाख से ज्यादा भारतीयों की हुई वापसी
कोरोना वायरस संक्रमण के चलते विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए सरकार ने वंदे भारत मिशन (Vande Bharat Mission) चलाया है। इसके तहत एयर इंडिया (Air India) एवं अन्‍य निजी एयरलाइनों को काम पर लगाया गया है। विदेश मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक कुल 5 लाख 13047 भारतीयों ने स्वदेश वापसी की अपील की थी। इनमें से अब तक 3 लाख 64209 भारतीयों को विदेशों से वापस लाया गया है।



from Patrika : India's Leading Hindi News Portal
Read The Rest:patrika...

No comments